सुगंधित अदरक, आंवला और हनी स्वास्थ्य के लिए उपयोगी हो सकते हैं।

अदरक को जींजर के नाम से भी जाना जाता है। प्राचीन समय में घरेलू नुस्खों में अदरक का वर्णन किया गया है। यह पौष्टिकता से भरपूर होता है और इसकी खुशबू भी अच्छी होती है। अदरक एक अच्छे स्वास्थ्य का स्रोत हो सकता है और इसमें औषधीय गुण भी मौजूद हो सकते हैं। जो शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है | जींजर के कई प्रकार के फायदे है | जो बॉडी को स्वस्थ रखने के लिए उपयोगी है | जींजर से नीचे बताए गए फायदे मिलते है |

सुगंधित अदरक

1. पाचन तंत्र में सुधार 

          इसमे मौजूद इन्जाइम्स पाचन क्रिया को सुधारने में मदद करता है | खाध्य पदार्थ को पचाने में सहायक बनता है | पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए आपको अदरक का सेवन करना चाहिए |

2. रोगप्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी

          बीमारियों से लड़ने की शक्ति प्रदान करते है | इसमे मौजूद एंटीओक्सिडेंट और विटामिन सी के मिश्रण से रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ती है | नियमित जींजर का सेवन करने से शरीर में कम बिमारी लगती है | 

3. ह्रदय के लिए फायदेमंद 

          ह्रदय स्वास्थ्य के लिए भी अदरक का सेवन कर सकते है | शरीर में कोलेस्ट्रोल को नियत्रित करने मदद करता है | बॉडी में रक्त के परिभ्रमण को नियत्रित करता है | जो ह्रदय को बीमारियों से बचाने में फायदेमंद है | 

4. वजन को नियत्रित करने में 

         वजन को नियत्रित करने आप जींजर का सेवन करे | मोटापा दूर करने के लिए आपको रोजाना अदरक का सेवन करना चाहिए | जींजर में भरपूर मात्रा में पोषक तत्वों होते है | जो शरीर के लिए अत्यंत फायदेमंद है | 

5. स्वास्थ्य के लिए 

        मोटापा दूर करना, ह्रदय स्वास्थ्य, रोगप्रतिरोधक क्षमता, वजन नियत्रण, पाचन तंत्र में सुधार वगेरे फायदे प्राप्त होते है | पुरे बॉडी को स्वस्थ रखने के लिए नियमित अदरक का सेवन करे | 

       अदरक से ओर भी कई सारे फायदे मिलते है, लेकिन ऊपर दिए गए फायदे मुख्य है | 

अदरक का सेवन कैसे करे ?

  • ताजा कटा हुआ अदरक को आप सलाद के रूप में सेवन करे |
  • रस निकालकर विभिन्न तरीको से उपयोग कर सकते है | जैसे की कुछ खाध्य पदार्थ में मिश्रण कर सकते है |
  • काली चाय में जींजर का उपयोग कर सकते है | जिनको अदरक वाली चाय कहते है |
  • फलों के ज्यूस में जींजर का रस मिश्रण कर सकते है |
  • सब्जियों में भी अदरक का पावडर मिला सकते है | 

 नियमित आहार में इसको शामिल करे | इनसे कई प्रकार के लाभ मिलते है | जो शरीर को स्वस्थ रखने में फायदेमंद है |

अदरक में मौजूद पोषक तत्वों की मात्रा 

कार्बोहाइड्रेट  –       60-70 %

प्रोटीन           –       9 %

फायबर         –       3-8 %

फैट              –       3-6 %

जल              –       9-12 %

जींजर में सबसे ज्यादा कार्बोहाइड्रेट की मात्रा होती है | जो शरीर के लिए फायदेमंद होता है |

आंवला खाने के फायदे और नुकशान

भारत देश में हर कोई व्यक्ति आवला को जानते है | शायद ही एसा कोई होगा की आवला को नहीं जानते होंगे | प्राचीन आयुर्वेद में भी आवला का वर्णन किया गया है | औषधीय गुणों के कारण आवला हर एक देश में लोकप्रिय है | आवले में जीवाणु-रोधी और पोषक तत्व मौजूद होते है | इसमे एंटीओक्सीडेंट और पोषक तत्वों होते है |

आंवला

1. आवले के फायदे

  • आवले के ज्यूस का सेवन करने से हमारे शरीर का खून शुध्ध रहता है |
  • नाख़ून मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण है |
  • बुढ़ापे की गति को मंद करने के लिए फायदेमंद है |
  • आवला चूर्ण मोटापा कम करने में बहुत ही उपयोगी होता है |
  • चमकती त्वचा के लिए आवला फायदेमंद है |
  • हड्डियों को मजबूत रखने के लिए उपयोगी है |
  • पोषित नसों के लिए महत्वपूर्ण है |
  • आवला चूर्ण क्रियाशील मलत्याग में फायदेमंद है |
  • निरामय ह्रदय में आवला महत्वपूर्ण है |
  • मजबूत दातो के लिए आवला उपयोगी होता है |
  • आखो के लिए आवला बहुत ही महत्वपूर्ण है |
  • घने, लम्बे और मजबूत बालो के लिए उपयोगी है |
  • आवला शरीर को ठंडा रखता है |
  • केंसर के जोखिम को कम करता है |

2. आवला को कैसे खाए

   आमला को कई तरीको से सेवन करा जाता है | आंवला का ज्यूस, मुरब्बा, कच्चा फल, सुखाकर, अचार, तेल ओए आमला का चूर्ण आदि तरीको से सेवन कर सकते है |

A. आंवला चूर्ण 

  अपने पास लम्बे समय तक रखने के लिए आवले के पावडर का उपयोग कर सकते है | अमला थोडा कड़वा होता है, इसलिए पावडर को केला, पपीता, सेव जैसे फ्रूट के ज्यूस में मिलाकर पी सकते है |

B. आवले का ज्यूस 

कच्चे आवले का रस निकालकर आप ज्यूस बना सकते है | जो सेहत के लिए काफी महत्वपूर्ण है | 

C. सूखा 

आवले के कच्चे फल को पहले छोटे-छोटे टुकड़ो में काट लेना है | उसको सूरज की रोशनी में सूखाना है | सूख जाने के बाद आप स्टोर भी कर सकते हो |

3. आंवला के नुकशान

अमला के बहुत सारे फायदे है | कुछ एसी बाते है की आपको ध्यान में रखनी चाहिए | जैसे की आवला का अधिक मात्रा में सेवन ना करे | इनसे आपको कब्ज भी हो सकता है | ज्यादा सेवन से पेशाब में जलन हो सकती है | अधिक सेवन से पाचन शक्ति पर असर करता है | ओर भी कई सारे नुकशान हो सकते है | 

हनी : फिटनेस के लिए महत्वपूर्ण

  हनी एक ओषधिय पदार्थ है | स्वास्थ्य के लिए हनी महत्पूर्ण होता है | ये सेहत के लिए फायदेमंद है | हनी में कई तरह के तत्वों पाए जाते है | जो हमारे शरीर  के लिए उपयोगी है | आज में बताने वाला हु की हनी फिटनेस के लिए स्वास्थ्यवर्धक और प्राकृतिक सहायक पदार्थ है |

फिटनेस के लिए हनी

हनी

1. ऊर्जा का स्त्रोत 

           हनी में प्राकृतिक रूप से ग्लूकोज और फ्रक्टोज पाए जाते है | जब कसरत करनी हो तो लम्बे समय तक ताकत की जरुरत पड़ती है | जो ग्लूकोज और फ्रक्टोज तुरंत उर्जा प्रदान करते है | शरीर में एनर्जी का स्त्रोत बढाता है |  

2. मसल्स के विकास के लिए 

         मसल्स को विकसित करने के लिए आप हनी का उपयोग कर सकते है | इसमे विटामिन, मिनरल्स और एमिनो एसिड्स होते है | जो मसल्स को ताकतवर बनाते है | जिम में जो व्यक्ति ज्यादा वजन उठाते है वो हनी को ले सकते है | इनसे लम्बे समय तक ऊर्जा बनी रहती है |

3. पाचन शक्ति में सुधार

            शरीर में पाचन शक्ति को सुधारने के लिए ये प्राकृतिक पदार्थ का सेवन कर सकते है | अगर आपकी पाचन शक्ति अच्छी रहेगी तो खाया हुआ पचेगा | भोजन को पचाने के लिए पाचन शक्ति अच्छी होनी चाहिए | जो फिटनेस में मदद करता है | 

4. शरीर के इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करे 

           हनी में प्राकृतिक रूप से एंटीबेक्टेरियल गुण होते है | जो रोगप्रतिरोधक शक्ति को बढाता है | यह इन्फेक्शन से बचाने की शक्ति प्रदान करता है |

5. वजन नियत्रण के लिए 

       वजन नियत्रण करने में भी फायदेमंद है | शरीर का वजन को मेंटेन करने में हनी में पाए जाने वाले तत्वों सहायक बनते है | 

6. एंटीओक्सिडेंट गुण

         एंटीओक्सिडेंट गुण की वजह से आंतरिक शरीर की कोशिकाओं को बुराईयों से बचाने में मदद करता है | और रोगप्रतिरोधक क्षमता प्रदान करता है | जो आपको संक्रमण से बचाता है |

7. ह्रदय स्वास्थ्य के लिए 

       हनी में पाए जाने वाले गुणों के कारण ह्रदय स्वाथ्य के लिए फायदेमंद है | दिल को स्वस्थ रखने में और ह्रदय से संबधित समस्याओं को रोकने में मदद करता है |

8. स्किन को सुन्दर बनाते है 

          नहाने के पानी में हनी को मिलाकर उपयोग कर सकते है | जिनसे शरीर की त्वचा मुलायम और सुंदर बनती है | पहले खराब हुई त्वचा भी सुन्दर दिखने लगती है | चेहरे की स्किन पर भी लगा सकते है | सुन्दर त्वचा के कारण आपका आत्मविश्वास बढ़ता है | जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है |

9. सोने मदद मिलती है 

         रत के समय आप हनी को दूध में मिलाकर ले सकते है | जो अच्छी नींद प्रदान करता है | और पुरे शरीर को रिलेक्स करता है | और अच्छी नींद की वजह से बुरे सपने भी कम आते है | आपके स्वास्थ्य पर असर करता है | अच्छी नींद सहल के लिए महत्वपूर्ण है |

10. स्ट्रेस कम करता है 

         आप नियमित हनी का सेवन करते है तो आपको अच्छा महसूस होता है | स्ट्रेस कम करने में एंटीओक्सिडेंट सहायक बनता है | और आपके फिटनेस के लिए महत्वपूर्ण साबित होता है |

          रोजाना आप एक चम्मस हनी का सेवन कर सकते है | अधिक सेवन से बचे वरना नुकशान भी हो सकता है | हनी को सही पदार्थ के साथ सेवन करे | उसका उपयोग जिम के लोग या फिर वजन उठाने वाले भी कर सकते है | वैसे तो कोई भी इसका सेवन कर सकता है | अधिक सेवन आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है | एक चम्मस सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा रहता है |

Leave a Comment